चीन के कोरोनावायरस को लेकर दुनियाभर में हडकंप

चीन के वुहान (Wuhan) में कोरोनावायरस (Coronavirus) की वजह से अब तक 17 लोगों की मौत हो चुकी है। चीन में 22 जनवरी तक कोरोनावायरस से संक्रमित 555 लोग सामने आए हैं। ये सभी बुखार, सांस लेने में दिक्कत और निमोनिया (Pneumonia) से ग्रसित हैं। नया खुलासा ये हो रहा है कि यह वायरस सांप के जरिए लोगों में फैला है। गुरुवार से वुहान से बाहर जाने वाली सभी उड़ानों और ट्रेनों को बंद कर दिया गया है। लोगों को बिना कारण घर से निकलने से मना किया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) प्रमुख टेड्रॉस एडहेनम गेब्रेयीसुस ने बुधवार को कहा कि समस्या को दुनिया के लिए खतरा (ग्लोबल हेल्थ इमरजेंसी) घोषित किया जाए या नहीं, इस पर विचार कर रहे हैं।

वुहान शहर में 31 दिसंबर को पहला मामला सामने आया

कोरोना वायरस का पहला केस वुहान शहर में 31 दिसंबर को मिला था। कोरोनो वायरस एसएआरएस (सीवियर एक्यूट रेसिपिरेटरी सिंड्रोम-सार्स) जैसा होने के कारण खतरा बना हुआ है। सार्स वायरस से 2002-2003 में चीन और हॉन्गकॉन्ग में लगभग 650 लोग मारे गए थे। कोरोना को भी सार्स वायरस की श्रेणी में ही रखा गया है। इससे बचाव के उपाय भी किए जा रहे हैं, लेकिन अब तक वायरस के सोर्स का पता नहीं चल पाया है।

एयरपोर्ट्स, बस अड्डे, ट्रेन में भी लोगों की जांच

चीन में न्यू ईयर मनाने के लिए इस हफ्ते लाखों लोगों आना-जाना करेंगे। इसे देखते हुए राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने एयरपोर्ट्स, बस अड्डों, ट्रेनों में लोगों की जांच की जा रही है। बीजिंग, शंघाई और चोंगकिंग के साथ ही उत्तर पूर्व, मध्य और दक्षिण चीन से भी कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। जापान, मकाऊ, दक्षिण कोरिया, ताइवान, थाईलैंड और अमेरिका में भी इसके मामले मिले।

वुहान में 1300 से 1700 लोग संक्रमित

हॉन्गकॉन्ग और ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि वुहान में 1300 से 1700 लोग संक्रमित हो सकते हैं। स्वास्थ्य अधिकारियों ने लोगों से आग्रह किया है कि वे नियमित रूप से हाथ धोएं, भीड़भाड़ वाली जगहों से बचें, ताजी हवा लें और खांसी होने पर मास्क पहनें। खांसी या बुखार होने पर अस्पताल जाएं। स्थानीय सरकार ने महत्वपूर्ण सार्वजनिक गतिविधियों को रद्द कर दिया है। 3-9 फरवरी को होने वाली महिला ओलिंपिक फुटबॉल क्वालिफाइंग मैच को पूर्वी शहर नानजिंग में स्थानांतरित कर दिया गया है।