दुनिया के सबसे बड़े टेलिस्कोप से हुआ सूर्य की सतह का खुलासा

वैज्ञानिकों ने पहली बार सूर्य की सबसे स्पष्ट तस्वीरें खींचने में कामयाबी हासिल की है। इन्हें हवाई के नेशनल साइंस फाउंडेशन (एनएसएफ) के डेनियल के इनौय टेलिस्कोप (डीकेआईएसटी) से लिया गया है। इसमें सूर्य की सतह ग्रेन्यूलर स्ट्रक्चर (दानेदार) की तरह दिख रही है। वैज्ञानिकों का कहना है कि हर दाना आकार में फ्रांस से बड़ा है। टेलिस्कोप ने सूर्य के 30 किलोमीटर के क्षेत्र को कवर किया।

सूर्य के बारे में सबसे बड़ी खोज

सूर्य की असली सतह का खुलासा हो गया है। पहली बार उसकी सतह की तस्वीरें सामने आईं हैं। रिपोर्ट कहती है कि सूर्य की सतह का पैटर्न मधुमक्खी के छत्ते के सेल की तरह है। ये सेल पूरे सूर्य की सतह पर नजर आते हैं। जब ये सिकुड़ते और फैलते हैं, उसी समय इनके केंद्र से प्रबल उष्मा निकलती है। बेशक चित्र में देखने से लगे कि सूर्य की सतह के प्रकोष्ठ बहुत छोटे छोटे हैं लेकिन असल में हर प्रकोष्ठ या सेल सैकड़ों किलोमीटर का है। उनका अकेले का क्षेत्रफल दुनिया के बड़े देशों से भी ज्यादा है। इस टेलिस्कोप ने 10 मिनट का एक वीडियो भी बनाया, जिससे जाहिर होता है कि हर 14 सेकेंड में सूर्य की सतह पर एक टर्बुलेंस यानि उथल-पुथल होती है. ये वीडियो करीब 200 मिलियन वर्ग किलोमीटर का क्षेत्रफल कवर करता है.

जमीन से सूर्य का अध्ययन करने की सबसे बड़ी छलांग

वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि टेलीस्कोप द्वारा जुटाए डाटा की मदद से सूर्य के बाहरी वायुमंडल (कोरोना) में चुंबकीय क्षेत्रों को मैप करने में मदद मिलेगी। हवाई में खगोल विज्ञान संस्थान के जेफ कून कहते हैं, “यह वास्तव में वैज्ञानिक गैलिलियो के समय के बाद जमीन से सूर्य का अध्ययन करने की मानवता की सबसे बड़ी छलांग है। यह एक बड़ी उपलब्धि है।” गैलिलियो ने ही दावा किया था कि पृथ्वी सूर्य की परिक्रमा करती है।

कुछ समय बाद और पॉवरफुल हो जाएगी ये टेलिस्कोप

हवाई में एक पहाड़ के शिखर पर टेलिस्कोप स्थापित किया गया है। इस टेलिस्कोप को दुनिया में सबसे बड़ा माना जाता है। टेलिस्कोप ने पहली बार सूर्य को निहारा है। अगले कुछ महीनों में यह टेलीस्कोप और अधिक प्रभावशाली हो जाएगा जब उसमें कुछ और उपकरण जोड़ दिए जाएंगे। यह दूरबीन सूरज के चुंबकीय क्षेत्र के विस्तार के अध्ययन में मददगार साबित हो सकता है। इससे ये भी पता लग सकेगा कि सूर्य किस तरह से पृथ्वी पर असर डालता रहता है।