RSS मुख्यालय पर आतंकी हमले के मद्देनज़र गहलोत सरकार ने बढ़ाई सुरक्षा

हाल ही में आईबी द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने और नागरिकता संशोधन कानून को लागू करने के बाद से पंजाब, महाराष्ट्र और राजस्थान में संघ के नेता और कार्यालय आतंकी संगठनों के निशाने पर है। इसको ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार ने भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के जयपुर स्थित मुख्यालय “भारती भवन” के बाहर गुरुवार को पुलिस सुरक्षा बढ़ा दी है।

आईबी ने अलर्ट किया है कि आतंकी संगठन किसी वाहन पर ऐसे सामग्री के जरिए विस्फोट करा सकते हैं, जिसके आपस में टकराने की स्थिति में एक किलोमीटर की दूरी तक न तो कोई भवन बचेगा और न ही व्यक्ति। सरकार और गृह विभाग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए भारती भवन के बाहर आज सुबह से ही एक बुलेटप्रुफ गाड़ी और विशेष प्रशिक्षित पुलिस का जाब्ता तैनात कर दिया।

भाजपा के उप नेता राजेंद्र राठौड़ ने बुधवार को विधानसभा में शून्यकाल में संघ के नेताओं और कार्यालय की सुरक्षा का मामला उठाया था। जिसमें आईबी की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि महाराष्ट्र और पंजाब में संघ कार्यालयों पर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई हैं, लेकिन राजस्थान में कोई इंतजाम नहीं किया गया है। सरकार राजस्थान में किस हादसे का इंतजार कर रही है। ऐसी स्थिति को देखते हुए जयपुर, अजमेर, बीकानेर, जोधपुर सहित पूरे प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाई जाए। धारीवाल पर तंज कसते हुए कहा कि मंत्री जी आरएएस हम दोनों के जन्म लेने से पहले का हैं, जब तक यह मुल्क रहेगा तब तक यह संगठन रहेगा। ऐसे में आप भी नहीं चाहेंगे कि ऐसी कोई अनहोनी हो, जिससे आपकी सरकार की बदनामी हो। यदि कुछ हो गया तो इसकी जिम्मेदारी आपकी होगी।

Leave a Reply